Cloud Computing in Hindi

CLOUD COMPUTING IN HINDI – CLOUD COMPUTING क्या है?

Cloud Computing  के बारे में हम हमेशा कही न कही पढते रहते हैं, Cloud Computing इस्तेमाल करके हम अपना काम काफी आसान बना सकते हैं. क्योकि इसके वजह से हमलोग कही भी रहकर अपने files को access कर सकते है. इससे आप सभी Documents, Files, photos, music etc. को Computer के साथ साथ internet पर भी save करके रख सकते है.

ये सारे files को हमलोग दो तरह से save करके रख सकते है- personal और shared. इसमें personal files को सिर्फ हमलोग खुद से access कर सकते है, जबकी What is cloud computing in hindi – Cloud computing क्या है? 

Cloud Computing in Hindi

Image of Cloud Computing in Hindi

Shared files को हम अपने दोस्तों और group में shared कर सकते है जिससे यह फायदा  होता है कि यदि हम कोई Project पर काम  कर रहे हो तो उसे अपने group में Easily Shared कर सकते हो. उसे अपनी सुविधानुसार देख सकते हो और उसे convert कर सकते हो.

एक और फायदा  हमें यह मिलता है की हमारी files online और offline सेव कर सुरिक्षत रख सकते हैं। सबसे important बात ये है की अगर हमारा computer ख़राब हो जाये या hard drive ख़राब हो जाते है. तब उस हालत में हमलोग अगर अपने files को क्लाउड storage में रखा होगा तो, उसको कही भी साइबर कैफ़े या किसी दोस्त के computer से कही भी कभी भी access कर सकते है.

जिससे हमारा डाटा लूज़ भी नहीं होता और अपना काम काफी आसानी से हो सकता है.

CLOUD COMPUTING के फायदा

  • हम सभी Documents और files को online या offline backup रख सकते है।
  • अपने files को कही भी access कर सकते है।
  • files को एक बार में बहुत जगह पर Share किया जा सकता है।
  • computer खराब होने पर कही भी उस computer के डाटा को access किया जा सकता है।
  • उस file को एक समय में बहुत devices में access कर सकते है जैसे computer, mobile, tab इत्यादी ।
  • cloud computing में कोई भी extra hardware की जरुरत नहीं पड़ती है ।
  • इसको use करना बहुत ही आसान है ।
  • files को online भी edit कर सकते है।
  • इसमें files की size की कोई limitation नहीं होती है, जैसे की आपलोग जानते होंगे की जब हमलोग mail करते है तो उसमे सिर्फ 10MB तक के files को ही कही भी share किया जा सकता है. लेकिन इसमें आप कितनी भी बड़ी file को share कर सकते है।
  • कहीं भी अपनी files को use किया जा सकता है।

जरुर पढ़े : 

CLOUD COMPUTING कैसे काम करता है?

Physical server पर information और software स्‍टोर होता है जिसके द्वारा क्लाउड कम्प्यूटिंग work करता है| जिसपर  server provider के द्वारा control किया जाता हैं.

क्लाउड कंप्यूटिंग कैसे काम करता है ये समझने के लिए, imagine करे कि क्लाउड मे दो part हैं – बैक एन्ड और फ्रंट एन्ड. फ्रंट एन्ड उसे बोलेंगे जिसे हम देख सकते हैं और उसके साथ Interact कर पाते हैं|

जब हम वेबमेल एक्‍सेस करते हैं, जैसे gmail तो वह क्लाउड के फ्रंट एन्ड part पर रन हो रहे सॉफ्टवेयर की वजह से possible हो पाता हैं| यह same बात  फेसबूक, yahoo या gmail के लिए भी लागू होते हैं| बैक एन्ड मे हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर का parts होता हैं जो की फ्रंट एन्ड क्या हो रहा है उसको देखने के लिए मदद करते हैं|

NAME OF WEBSITES THAT PROVIDE CLOUD STORAGE SERVICE

  1. Google Drive
  2. Microsoft Sky Drive
  3. Drop Box

ADVANTAGES OF CLOUD COMPUTING :

1)  ACCESS FROM ANY PLACES:

Cloud Computing ऐसा technology है, जिसके इस्तेमाल हमलोग कभी भी कही भी बड़े ही आसानी के साथ कर सकते है. जैसे की आज के डेट में google drive use किया जाता है. हा इसमे एक बात important है वो ये की आपको access करने के लिए इन्टरनेट जरुर होना चाहिए.

cloud computing हमारे speed को बढाता है क्योकि इससे हमलोग कही भी रह कर अपने डाटा को access कर सकते है.Business के purpose से देखा जाये तो ये काफी खास है. क्योकि इससे आप कही भी बगैर डॉक्यूमेंट लिए जा सकते है. और जब जरुरत पड़े हम अपने उस डॉक्यूमेंट को अपने ऑफिस में या कही भी सबमिट कर सकते है.

2) EXTRA STORAGE:

पहले के टाइम में हमलोग अपने हार्ड Drive पर सीमित रहते थे. Cloud Computing से storage में growth हुआ है, जिससे अब हमें storage खत्म होने का डर नहीं रहा. अभी हमें Google Drive पर फ्री में 15GB तक storage देता है. जिसको को हम चाहे तो आगे भी बढ़ा सकते है. जिसमे हमें yearly paid करना होता है.

DISADVANTAGES OF CLOUD COMPUTING :

1) SECURITY:

जब हमलोग Cloud Computing इस्तेमाल करते है तो उस समय, हम अपने डेटा को किसी और company  को जरिए use कर रहे होते हैं। इसका मतलब यह है कि, सर्वर को दुनिया में कई यूजर्स एक साथ एक्‍सेस कर रहे होते है, तो इसमें सुरक्षा को लेकर थोडा tension बना होता है. हालांकि कुछ सर्वर स्पैम फ़िल्टर, ईमेल एन्क्रिप्शन, और सुरक्षित HTTPS का उपयोग कर रहे हैं|

2) PRIVACY:

क्लाउड कंप्यूटिंग में देखा जाये तो थोडा प्राइवेसी कम  है जिससे अनाधिकृत यूजर आपकी जानकारी को एक्‍सेस कर सकता है। यह होने से रोकने के लिए, क्लाउड कंप्यूटिंग सर्वीस पासवर्ड सुरक्षा देती हैं और डेटा encryption technology  के साथ सुरक्षित सर्वर पर कार्य करते हैं।

 3) INTERNET:

जबकि आजकल इंटरनेट का इस्तेमाल काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है, लेकिन अभी भी यह हर जगह availabe नही है। अगर आप ऐसे जगह है, जहाँ इंटरनेट की सुविधा नहीं है, तो वहां आप क्‍लाउड सर्वीस को use नही कर सकते|

CONCLUSION

आज आपलोग ने देखा की Cloud Computing क्या होता है और ये कैसे काम करता है ? तो दोस्तों आज का टॉपिक कैसा लगा हमें जरुर comment करके बताये. जिससे आपके लिए और भी अच्छा अच्छा ब्लॉग लेकर आ सकू. और आप लोगो को ज्यादा से ज्यादा इनफार्मेशन मिल सके. जिससे आप अपने निजी जीवन में use कर सके. अपने सुझाव हमें जरुर share करे जिससे और अच्छी तरह आपके सामने अपने ब्लॉग ला सकू. आप हमें mail कर सकते है.

Mail ID: technogyanin@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here