dedicated hosting vs shared hosting

Dedicated Hosting vs Shared Hosting में क्या अंतर है? ये दोनों कहा कहा use किये जाते है? इसके बारे में आज हमलोग जानने वाले है। आपलोग में से जो लोग भी blogger है। वो लोग जब अपनी ब्लॉग शुरू करते है तो hosting लेनी पड़ती है।

आपने ध्यान दिया होगा जब हमलोग hosting के लिए किसी साईट पर जाते है। तो वहां आपलोग को काफी सारे आप्शन देखने को मिलता होगा। जैसे की shared hosting, dedicated hosting, WordPress hosting या फिर Linux hosting.

तो आज के इस ब्लॉग में मै आपलोग को इन्ही में से दो hosting जैसे Dedicated Hosting vs Shared Hosting के बीच क्या क्या difference होता है? इन दोनों के बारे में डिटेल में comparison कर के बताऊंगा।

DEDICATED HOSTING VS SHARED HOSTING में क्या क्या अंतर होता है? 

अब मै आपलोग को Dedicated Hosting vs Shared Hosting के बारे में एक एक कर के बताऊंगा। आपलोग ने जब hosting लेने के लिए hosting साईट पर जाते है। तो वहां पर आपने ध्यान दिया होगा की dedicated Hosting काफी costly होते है।

तो आइये इन दोनों के बारे में एक एक कर से समझते है। जिससे आपलोग को आगे इस तरह से hosting लेने में काफी आसानी होगी।

DEDICATED HOSTING क्या है? | WHAT IS DEDICATED HOSTING IN HINDI?

Dedicated का बेसिक मतलब होता है ऐसा service जो सिर्फ आपके लिए special use करने के लिए हो। दुसरे शब्दों में कहे तो सिर्फ आपके लिए dedicated हो। ये shared hosting से opposite होता है। dedicated hosting में आपके अलावा कोई दूसरा लोग उस server को use नहीं कर सकता है।

ये इसका सबसे बड़ा खासियत होता है। जैसे की बाकी server में क्या होता है उस web server का use काफी सारी साईट के लिए किया जाता है। लेकिन वही dedicated की बात करे तो ये सिर्फ और सिर्फ एक साईट के लिए use होता है। जिस कारण ये काफी costly मिलते है।

dedicated hosting
Image of dedicated hosting vs shared hosting in hindi

अगर उसमे कुछ भी specific मिलता है। जैसे की RAM तो उसको सिर्फ आपका साईट में ही use किया जा सकता है। अब उसमे आप कितना साईट रन करते है वो आप पर depend करता है। जब आपके site पर काफी ट्रैफिक आता है या काफी लोड बढ़ता है। तो ऐसे में ये dedicated hosting उसको काफी easy way में हैंडल कर लेता है। 

ये भी पढ़े:

इसलिए जिनके भी साईट में काफी ट्रैफिक आते है वो इसी hosting का use करते है। जिससे उनका साईट कभी slow नहीं होता है। और उनका साईट का परफॉरमेंस हमेशा अच्छा रहता है। यही कारण है की ये hosting काफी costly मिलते है। क्योकि ये physical server पूरा एक साईट के लिए वर्क करता है।

अब जब इसको सिर्फ एक user use करता है। तो ऐसे में इस server का सारा resource भी एक साईट के लिए ही होता है। यही कारण है की ये इतने महंगा hosting होता है।

Dedicated server पर आप अपने हिसाब से OS या फिर कोई भी software इनस्टॉल कर सकते है। इसकी आपको पूरी आजादी होती है इस hosting में। इसका एक और बात ये है की इसमें आपको अच्छी security भी मिल जाती है। इस server को आप जैसे चाहे वैसे use कर सकते है।

इसमें आपको पूरा control मिल जाता है। जिसमे अपने according आप hardware और software को add और remove कर सकते है।

डेडिकेटेड होस्टिंग काम कैसे करती है | HOW TO WORK DEDICATED HOSTING

बाकी के hosting की तरह ही dedicated hosting भी वर्क करता है। जब कोई user कोई वेबसाइट access करता है तो server पर रखा हुआ file को web browser पर अपलोड कर दिया जाता है। जिससे हमें उस का access मिल जाता है। और हमें जो इनफार्मेशन चाहिए होता है वो browser पर देखने को मिल जाता है।

hostgator coupon

लेकिन dedicated में सिर्फ एक अंतर ये होता है की इसमें server पर सिर्फ आपके साईट का इनफार्मेशन रहता है। जिससे आपका साईट का लोडिंग टाइम काफी कम होता है। इसीलिए जिसके साईट का ट्रैफिक ज्यादा होता है वो इसका use करते है।

डेडिकेटेड होस्टिंग के ADVANTAGE

इसके कुछ फायदे भी है जिनको मैं निचे बता रहा हूँ:

  • BEST PERFORMANCE – ये hosting सिर्फ और सिर्फ आपके लिए होता है। जिसके कारण ये बाकी hosting की तुलना में काफी अच्छा परफॉर्म करता है।
  • FULL CONTROL – जैसे की मैंने उपर में बताया है की ये dedicated hosting है। जिससे आप अपने हिसाब से जो चाहे अपने server में change कर सकते है। जिसके कारण इसको user full control कर सकता है।
  • HIGH SECURITY – इस hosting में आप एक server के मालिक बन जाते है। जिसमे आप अपने हिसाब से कुछ भी changes कर सकते है। जिस वजह से आप अपने हिसाब से firewall या antivirus को भी इनस्टॉल कर सकते है। और अपने साईट को और भी ज्यादा secure बना सकते है। इसमें आपको अपना खुद का एक IP Address मिलता है जिसके कारण ये और भी ज्यादा secure हो जाते है।
  • TRUSTFUL HOSTING – ये इसलिए भरोसेमंद है की ये जल्दी down नहीं होता है। जैसे की shared hosting में बाकी कोई साईट का लोड बढ़ने के वजह से आपके साईट का speed down हो सकता है। लेकिन इसमें ऐसा नहीं होता क्योकि ये सिर्फ आप use कर रहे होते है। जिससे इसका speed अच्छा बना रहता है।

डेडिकेटेड होस्टिंग के नुकसान

  • VERY COSTLY – जैसे की उपर में बताया गया है की ये hosting किसी एक user के लिए dedicate होता है। जिससे की उसको अच्छी service मिल सके। और अच्छे से ट्रैफिक हैंडल कर पाए। तो आप सोच सकते है सिर्फ एक user के लिए ये hosting काफी महंगी भी होगी। 
  • TECHNICAL जानकारी – अब ये एक user के लिए dedicated होता है। तो इसमें आपको ही सब कुछ हैंडल करना होता है। जैसे की server हुआ या कोई OS इनस्टॉल करना है या फिर कोई software इनस्टॉल करना है। वैसे ही कुछ न कुछ troubleshoot करना पड़ गया। तो ये सब के लिए थोडा बहुत टेक्निकल जानकारी होनी बहुत जरुरी है।

नोट : Dedicated hosting दो तरह के होते है। पहला Unmanaged Dedicated hosting और दूसरा Managed Dedicated hosting. पहला वाला में आपको खुद से hosting को manage करना होता है

जबकि मैनेज्ड में आपको Web host वाले hosting को manage कर के देते है। इसमें Managed Dedicated hosting थोड़े costly होते है

SHARED HOSTING क्या है? | WHAT IS SHARED HOSTING IN HINDI?

जैसे की इसके नाम से ही पता लग रहा है। Shared hosting मतलब ये hosting काफी सारे user को दिया जाता है। इसमें एक hosting काफी सारे user use कर रहे होते है। Shared hosting उसको कहा जाता है जहा एक web server से बहुत सारे वेबसाइट को host किया जाता है। 

shared hosting

अब बताते है की shared hosting का use क्यों होता है? ये hosting खास कर के वैसे लोगो के लिए होता है जो ब्लॉग्गिंग में beginner हो। या अपने business के लिए एक सिंपल वेबसाइट चाहते है। जो लोग कम पैसा में अपना वेबसाइट ओपन करना चाहते है। तो ऐसे में वो लोग भी काफी easy way में अपना वेबसाइट चला सकते है।

क्योकि hosting काफी costly आते है। जो की सबके बस की बात नहीं है। इसलिए shared hosting लाया गया। जिसमे एक hosting से काफी सारे user अपना वेबसाइट रन करा पाते है। और अपने business को ग्रो कराने में मदद करते है।

शेयर्ड होस्टिंग इतनी POPULAR क्यों है?

सबसे पहला रीज़न ये है की ये काफी सस्ती होती है। जिससे जो नहीं भी चाहते है ब्लॉग्गिंग करना वो भी अब करने लगे है। लोग ये भी सोच कर ये hosting लेते है की स्टार्ट में काफी कम ट्रैफिक आते है। जिसको ये काफी easy तरीके से हैंडल कर लेता है। क्योकि कोई भी शुरू में ज्यादा पैसा नहीं लगाना चाहता है।

जब वही साईट काफी अच्छा ग्रो करने लगता है तब उसको दुसरे अच्छी hosting में ट्रांसफर कर लिया जाता है। मै ये अपनी साईट shared hosting पर ही रन करता हूँ।

शेयर्ड होस्टिंग काम कैसे करती है | HOW TO WORK SHARED HOSTING

ये hosting भी बाकी सब hosting की तरह की काम करती है। जैसे की मैंने dedicated hosting में बताया है same वैसे ही ये भी काम करता है। बस अंतर यही है की इसको काफी सारे user एक साथ use करते है। जिससे इसका नाम shared hosting पड़ गया है।

इसमें आपको सारा कुछ web server वाले ही manage कर के देते है। बस आपको अपना डोमेन इस hosting के साथ लिंक कर देना है। आपकी साईट काम करने लगेगी।

शेयर्ड होस्टिंग के ADVANTAGE

इसके कुछ फायदे भी है जिनको मैं निचे बता रहा हूँ:

  • कम PRICE होना – सबसे बड़ा खासियत ये है की ये काफी cheap price में हमें मिल जाते है। क्योकि ये shared होता है। जिसके वजह से कोई भी अब आसानी से अपनी साईट बना सकता है। इसका use सिखने वाले स्टूडेंट लोग भी करते है क्योकि price कम होता है।
  • USER FRIENDLY – ये काफी यूजर फ्रेंडली होता है। क्योकि इसका use काफी easy way से किया जा सकता है। कोई भी इसमें आसानी के साथ अपनी साईट को manage कर सकता है। क्योकि काफी सारी hosting provider cPanel देती है। जिसमे एक क्लिक में WordPress को इनस्टॉल कर के आप अपनी साईट बना सकते है। कुछ तो आपको WordPress इनस्टॉल करने में मदद भी करते है।
  • NO TECHNICAL MAINTENANCE – इसमें कोई मेंटेनेंस की जरुरत नहीं पड़ती है। क्योकि इसमें सारा कुछ web server वाले कर के देते है। ये मेंटेनेंस फ्री होते है।

ये भी पढ़े:

 

  • UPGRADABLE – इसमें आप आसानी से जब चाहे अपने प्लान को अपग्रेड कर सकते है। क्योकि काफी सारे hosting वाले आपको अपग्रेड करने के आप्शन देते है। जिससे आपको जब लगे की हमें कुछ और बेनिफिट चाहिए तो आप easy way में अपग्रेड कर सकते है।
  • SECURITY – काफी लोग को लगता है की एक server पर इतने सारे साईट host हो रहे है। तो क्या ये secure है। जी हाँ ये पूरी तरह secure है। इसमें सभी के लिए अलग अलग hosting दिया जाता है। जिसको कोई भी दुसरे साईट वाले देख नहीं सकते है। इसमें hosting provider आपके लिए web server की security maintain करती है। जिसमे फ़ायरवॉल, एंटीवायरस या security पैच ये सब इनस्टॉल करने का काम hosting provider का होता है।
  • ALL TYPES OF COMPATIBILITY – ये एक सबसे अच्छा advantage है। की इसमें कोई भी प्लेटफार्म में आप अपने साईट को use कर सकते है। जैसे की WordPress, Joomla, Drupal या और भी कस्टम टाइप साईट हुआ। जिसका use आप अपने साईट में कर सकते है। ये सभी के लिए compatible होता है।

शेयर्ड होस्टिंग के नुकशान

इसके कुछ नुकसान के बारे में जाने:

SPEED – ये shared होने के कारण थोडा slow काम करता है। क्योकि एक server पर काफी host काम कर रहे होते है। तो थोडा सा speed पर इफ़ेक्ट पड़ता है।

MINIMUM CUSTOMIZATION – जैसे की मैंने उपर में बताया है की hosting वाले ही सब कुछ manage कर के देते है। जिससे आप अपने हिसाब से customize नहीं कर पाते है। इसलिए आपको काफी कम customize करने को मिलता है।

SECURITY – वैसे तो इसमें भी security का काफी अच्छा ध्यान दिया जाता है। लेकिन बहुत सारे साईट shared hosting पर चल रहे होते है। जिससे कभी ऐसे हो सकता है की किसी दुसरे साईट के virus किसी कारण से आपके साईट पर ट्रान्सफर हो सकते है। जिससे आपको प्रॉब्लम फेस करना पड़ सकता है। वैसे ये होने के चांसेस काफी कम होता है।

HIGH TRAFFIC ISSUE – इस hosting में आप काफी low या medium ट्रैफिक को ही हैंडल करा सकते है। इससे ज्यादा अगर आपके साईट पर ट्रैफिक आता है तो आपको फिर अपग्रेड करने का जरूरत पड़ जायेगा। उसके लिए फिर आपको VPS या Dedicated की तरफ मूव करना पड़ सकता है। क्योकि ये high ट्रैफिक को भी हैंडल कर सकता है।

CONCLUSION

आपने यहाँ Dedicated Hosting vs Shared Hosting के बीच के अंतर के बारे में जाना। उसके साथ ही ये कैसे वर्क करता है? इनके advantage और disadvantage के बारे में जाना। अगर हमारा ये पोस्ट आपलोग को अच्छा लगा हो तो इसको शेयर जरुर करे। जिससे और भी लोगो तक ये जानकारी पहुँच सके।

आपका कोई भी सवाल है तो आप हम से कमेंट कर के या mail कर के पूछ सकते है। हमें आपके जवाब देने में काफी ख़ुशी मिलेगी। आपलोग इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते है

Thanks..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here