Keylogger kya hai

Keylogger kya hai. जाने हिंदी में. हेल्लो दोस्तों नमस्कार कैसे है आपलोग ? आशा करूँगा की आप सभी लोग अच्छे होंगे. और हमारे ब्लॉग को अपना प्यार जरुर दे रहे होंगे. अपना कीमती समय देकर. चलिए आज मै एक और नया टॉपिक लेकर आया हु. जो काफी खास है security point of view से. तो इसलिए आप हमारे साथ बने रहे और अपने आप को secure रखे. तो आइये देखते है what is keylogger in hindi – keylogger kya hai.

आजकल सभी लोग मोबाइल और कंप्यूटर इस्तेमाल करते है. और हम सबलोग अपने मोबाइल या कंप्यूटर को safe रखने के लिए password का इस्तेमाल भी करते है. लेकिन password इस्तेमाल करने के बाद भी hack होने के chances बना रहता है. इस hacking में बहुत से ऐसे चीज है जिनके बारे में हम नहीं जानते है. इन्ही में से एक है keylogger जो hardware और software दोनों है. ये ऐसा software है जिसके हेल्प से हमे पता चल सकता है की सामने वाला क्या टाइप कर रहा है.

What is Keylogger in hindi – Keylogger kya hai.

keylogger एक hardware और software दोनों है. और ये दोनों तरीके को use कर के hacking किया जा सकता है. इसके जरिये हम पता लगा सकते है की कंप्यूटर devices में क्या टाइप किया जा रहा है. और बड़ी ही आसानी से track कर सकते है. इससे हमें कीबोर्ड से टाइप किया हुआ लगभग सभी इनफार्मेशन पता चल सकता है. इस ब्लॉग में मेरा मेन उदेश्य है आपको ऐसे hardware और software से बचाना. जिसकी जानकारी लेकर आप अपने आपको इससे बचाए. कितनी बार ये अपने आप हमारे सिस्टम में अपने आप इनस्टॉल हो जाते है और हमें पता भी नहीं चलता है.

Click for Free & Premium WordPress Themes

ऐसे टूल का इस्तेमाल ज्यादतर टार्गेटेड लोगो पर किया जाता है. जब ये हमारे सिस्टम में इनस्टॉल होते है तो उसके बाद हमलोग जो भी टाइप करते है. उसका सारा इनफार्मेशन software रिकॉर्ड कर लेता है. और एक log file बना लेता है. ये log file हैकर के database में जाकर save हो जाता है. जिससे जब चाहे हैकर access करके उसका गलत use कर सकता है. Keylogger kya hai.

 ये दो तरह के होते है:-

Hardware keylogger

ये एक तरह का hardware device होता है. जिसको hardware keylogger के नाम से जाना जाता है. ये एक pendrive या dongle की तरह होते है. जिसको भी आपकी कोई जानकारी चाहिए होती वो इसको आपके सिस्टम में लगा देते है. जिससे हमलोग जो भी टाइप करते है उसका सारा डाटा इसी device में जाकर save हो जाते है. जिसके बारे में हमें पता भी नहीं चलता है और इसका शिकार बन जाते है.

Software keylogger

अगर आप अपने चालाकी से hardware keylogger से बच भी जाते है लेकिन software keylogger से नहीं बच पाइयेगा. hacking के लिए कोई किसी भी तरह आपके सिस्टम में keylogger इनस्टॉल कर सकता है. इस software का पता लगाना काफी मुश्किल होता है. क्योकि ये background में चलता रहता है और हमें इसका पता भी नहीं चलता है. कितनी बार हमलोग कही से software डाउनलोड करते है तो ऐसे में ये keylogger चुपके से इनस्टॉल हो जाते है और अपना काम करते रहते है.

आइये अब जाने है इससे बचने का तरीका जिसका इस्तेमाल कर के आप इससे बच सकते है.

ये भी पढ़े:

keylogger से बचने के tips

  • अगर आप कही सार्वजनिक जगह पर काम कर रहे है तो वहां ज्यादा सतर्क रहने की जरुरत होती है. सबसे पहले हमे ये देख लेना होता है की कोई फालतू का device उसके साथ तो नहीं जुड़ा है. अगर इससे पहले उस सिस्टम पर वर्क किये है. और उस टाइम उस सिस्टम में कुछ भी ऐड नहीं है और अब लगता है, की उसमे कुछ device जुड़ा है तो ऐसे कंडीशन में ज्यादा सतर्क रहना चाहिए. ऐसे में उस जुड़ा हुआ device को disconnect कर के अपना वर्क कीजिये.
  • हमें कुछ टाइम के अंतराल पर अपने सिस्टम के control panel को चेक करते रहना चाहिए. इससे आपको पता चल जायेगा की आप जो software use कर रहे है उससे हट के कोई unwanted software तो इनस्टॉल नहीं है. अगर है तो उसको तुरंत uninstall कर दीजिये.
  • हमलोग जब भी इन्टरनेट बैंकिंग करते है तो उस टाइम एक बात का ख्याल जरुर रखे. मोबाइल या सिस्टम में हमें internet banking करते टाइम virtual keyboard मिलता है use करने के लिए. तो हमेसा नेट banking करते समय इसी virtual keyboard का use करिए. इस तरह आपका banking पूरी तरह secure रहेगा.
  • हमलोग जो वायरलेस कीबोर्ड और माउस use करते है उसमे भी डर रहता है. क्योकि ये सिग्नल के जरिये वर्क करते है और ये सिग्नल encrypted होते है. तो ऐसे में हमेसा अच्छी quality की कीबोर्ड और माउस use करिये.

Conclusion

तो ये छोटे छोटे tips को फॉलो करके आप इस keylogger से बच सकते है. एक बात का ध्यान और रखना है जब भी आप कोई software कशी से downlaod करते है तो, अच्छी साईट से ही डाउनलोड करे. क्योकि यहाँ से भी unwanted फाइल इनस्टॉल होने के chances रहता है.

अगर आपको मेरा ये टॉपिक अच्छा लगा हो तो कृपया अपने दोस्तों तक जरुर शेयर करे.

Mail ID : technogyanin@gmail.com

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here