what is mini usb and micro usb in hindi

WHAT IS  MINI USB AND MICRO USB IN HINDI

USB का फुल फॉर्म Universal Serial Bus होता है. आज हमलोग सीखेंगे की What is mini USB and micro USB in Hindi. असल में USB एक कनेक्टर, cables या communication के लिए use में लाये जाते है. जो की हमारे computers और तरह तरह के इलेक्ट्रॉनिक्स devices को communicate करने में हेल्प करता है. Technology के हिसाब से आज के डेट में काफी न्यू types आ गए है हमारे USB के. जिसमे काफी एडवांस feature होते है. जैसे की mini USB, micro USB इत्यादि.

MINI USB AND MICRO USB

Mini USB

what is mini usb and micro usb in hindi

image of what is mini USB and micro USB

ये USB एक standard कनेक्टर होते थे जो मोबाइल में use किया जाता था. उस टाइम micro USB नहीं हुआ करते थे. इसका use generally मोबाइल और PDA में हुआ करता था. इस USB में OTG का सपोर्ट नहीं हुआ करता था. इनका size काफी छोटा हुआ करता था रेगुलर USB की तुलना में. इस USB को अभी भी बहुत से कैमरा में use किया जाता है.इसका connect disconnect cycle 5000 टाइम होता है जो micro से काम होते है. mini USB का use मोस्टली डाटा ट्रान्सफर और स्टोरिंग के लिए किया जाता था.

Micro USB

what is mini usb and micro usb in hindi

image of what is mini USB and micro USB

इसको मार्किट में साल 2007 में लाया गया. ये mini USB को replace कर दिया micro USB से. इसका connect और disconnect cycle mini की तुलना में 10000 गुना ज्यादा था. जिससे ये लॉन्ग टाइम use किया जा सकता था. इसका use आज के टाइम में लगभग सारे devices में किया जा रहा है सिर्फ apple को छोड़ कर. और इसका use एक standered के तौर पर किया जा रहा है. इसमें हम OTG का use कर सकते है. इसका use हम डाटा ट्रान्सफर और store में तो करते ही है साथ में चार्जिंग का भी काम करता है. micro USB का size mini की तुलना में कम होते है.

एक कारण यही था की micro USB को इतना priority मिली. इसका use एक प्राइमरी USB केबल के तौर पर मोबाइल में किया गया. क्योकि इससे डाटा तो ट्रान्सफर होते ही थे साथ में चार्जिंग भी होती थी.

DIFFERENCE BETWEEN MINI USB AND MICRO USB

MINI USB MICRO USB
5000 cycle 10000 cycle
काम durable होते है ज्यादा durable होते है
डाटा ट्रान्सफर और स्टोरेज में use होता है डाटा के साथ साथ चार्जिंग भी कर सकता है
OTG सपोर्ट नहीं करते OTG सपोर्ट करते है
मोबाइल फ्रेंडली नहीं होते थे मोबाइल फ्रेंडली होते है
3×7 mm size (approx) 6.85×1.8 mm size (approx)

TYPES OF USB

  • Type-A
  • Type-B
  • Type-C

Type A – सबसे ज्यादा popular इस्तेमाल में होने वाला USB type A होता है. जो की केबल के एक सिरा पर लगा होता है. ये host devices में आपको देखने को मिल जायेगा. जैसे लैपटॉप, कंप्यूटर या गेमिंग PC. बहुत से devices में इसका use सिर्फ डाटा ट्रान्सफर करने और चार्जिंग के लिए use होता है.

Type B – ये केबल देखने में square connector जैसा होता है. इसका use पुराने printer या अलग अलग तरह के peripheral devices में होता है. जिसको की कंप्यूटर के साथ कनेक्ट किया जाता है. इसका use काफी कम होता है type A की तुलना में. इसका use commonly नहीं किया जाता है.

Type C – Type-C एक न्यू interface है जो Type-A और Type-B के बाद साल 2014 में launch किया गया था. ये type बाकी के दोनों से काफी एडवांस feature के साथ आता है. ये reversible होता है. कहने के मतलब है की इसको हम जैसे चाहे वैसे कनेक्ट कर सकते है. ये आजकल हमारे PC, laptop या smartphone में देखने को मिल जायेगा.

इसके जरिये हम 100 Watt तक power को ट्रान्सफर कर सकते है. Type C का ट्रान्सफर speed 10 gbps तक होता है जो की बाकी के दोनों types से काफी ज्यादा होता है. ये ज्यादा popular इसलिए हुआ क्योकि इसमें 24 पिन होते है जो double side connection के साथ आते है. इसका एक खासियेत ये भी है की इस केबल से हम काफी जल्दी अपने मोबाइल को charge भी कर लेते है.  और ये केबल मार्किट में एक standard के तौर पर आगे आ रहा है. क्योकि आने वाले टाइम में इसी केबल का use ज्यादा होने वाला है.

TYPES OF USB VERSIONS

USB 1.0

इस USB को साल 1996 में लाया गया था. जिसमे इसका ट्रान्सफर speed 1.5 एमबीपीएस थी. जो आज की तुलना में काफी slow speed माना जाता है. ज्यादातर जो इस टाइप के USB होते थे वो white कलर में आते थे.

USB 1.1

इसको साल 1998 में आया था. जिसका ट्रान्सफर speed 12 एमबीपीएस होता था और इसको 1.0 से थोडा improve किया गया था. जिससे speed अच्छी मिल सके. इसको full speed USB के नाम से भी जाना जाता था. इसका एक खासियत था जिसमे ये दो अलग अलग speed पर भी वर्क कर सकता था. जैसे low bandwidth 1.5 एमबीपीएस और full speed 12 एमबीपीएस.

USB 2.0

ये साल 2000 में launch किया गया था और ये आज के डेट में भी use किया जा रहा है. इसका speed बाकी के दोनों से अच्छा था. इसमें 480 एमबीपीएस तक का ट्रान्सफर speed होते है. ये ज्यादातर आपको काले रंग में मिलते है. इसमें डाटा ट्रान्सफर only सिंगल way में होते है.  इसका केबल का size maximum 16’5” होता है. जो बाकी के केबल से काफी बड़ा होता है.

ये 5 V और 1.8 A पर काम करता है. इसका use हमलोग normal PC में डाटा ट्रान्सफर करने या और भी बहुत कामो के लिए करते है. इसमें 4 कॉपर के वायर लगे होते है जिसके हेल्प से डाटा ट्रान्सफर होते है.

USB 3.0

USB 3.0 को साल 2008 में मार्किट में लाया गया था. जिसमे काफी 2.0 की तुलना में काफी सारे features थे. इसमें डाटा का ट्रान्सफर super speed mode में होता था. जिसका ट्रान्सफर speed 5 gbps है. इसमें डाटा का ट्रान्सफर दोनों डायरेक्शन में होने वाला features है. जिसके कारण speed काफी बढ़ जाता है. ये ज्यदातर ब्लू कलर में मिलते है जिससे समझने में काफी आसानी हो जाता है.

what is mini usb and micro usb in hindi

image of what is mini USB and micro USB

इसमें भी power operate करने की छमता same USB 2.0 के जितना ही होते है, 5 V और 1.8 A. इसका maximum केबल size 9’10” होते है जो USB 2.0 की तुलना में थोडा कम होते है. इसको use करने में एक बात का ध्यान देना जरुरी है. अगर आपके PC में USB 2.0 का पोर्ट है तो फिर आपको speed 2.0(480 एमबीपीएस) के जितना ही मिलेगा. आप पढ़ रहे है What is mini USB and micro USB in Hindi. 

इसके हेल्प से हमलोग बड़े से बड़े डाटा को काफी ही आसानी से कम टाइम में ट्रान्सफर कर लेते है.

USB 3.1

ये मार्किट में साल 2013 में लाया गया था. ये 3.0 से भी एडवांस है क्योकि इसका ट्रान्सफर speed 10 gbps होते है. जो की बाकी के सारे वर्शन से काफी ज्यादा होता है. और ये हमारे 2.0 और 3.0 दोनों के साथ easily compatible होते है. ये भी दोनों डायरेक्शन में डाटा को ट्रान्सफर करता है.

ये USB 20 V और 5 A पर काम करता है जो की बाकी की तुलना में काफी ज्यादा होते है. इसके साथ भी same प्रॉब्लम है. अगर हम ओल्ड वर्शन वाले USB में कनेक्ट करते है तो इसका speed ओल्ड वाले के हिसाब से ही मिलता है. इसमें 9 कॉपर के वायर होते है.

USB में OTG क्या होता है ?

OTG का पूरा नाम “On The Go” होता है. आज कल जितने भी मोबाइल या लैपटॉप आ रहे है सब OTG को सपोर्ट करते है. तो ऐसे में जिस भी device में ये feature होते है उससे आप अपने pendrive को easily कनेक्ट कर सकते है. जैसे आजकल हमलोग डायरेक्ट pendrive को मोबाइल के साथ कनेक्ट कर के काफी आसानी से डाटा का exchange कर सकते है.

इससे क्या होता है की आपको अपने मोबाइल को कंप्यूटर से कनेक्ट करने की जरुरत नहीं पड़ती. काफी आसानी से हम अपने pendrive के डाटा access कर सकते है.

तो इसका कुछ मुख्य कार्य मै आपको निचे बता रहा हु :

Best Pendrive खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे.

  1. इसका सबसे बड़ा बात ये है की हमलोग इसके हेल्प से कीबोर्ड और माउस को कनेक्ट कर सकते है. और आसानी से बिना स्क्रीन को छुए हम टाइपिंग कर सकते है. और अपनी टाइपिंग स्किल को बिना कंप्यूटर के improve कर सकते है.
  2. मेमोरी card को कनेक्ट कर के हम गाने या मूवी भेज सकते है.
  3. आजकल ऐसे भी मोबाइल आ रहे है जिसमे हम OTG के हेल्प से HDD को भी access कर सकते है.
  4. USB लाइट को ऐड कर सकते है और कोई video शूट करते टाइम इसका use कर सकते है.
  5. आज कल ऐसे भी मोबाइल आते है जिससे दुसरे के मोबाइल को charge भी किया जा सकता है. अगर ये feature है तो उसको भी आपलोग OTG की मदद से use कर सकते है.
  6. DSLR camera को कनेक्ट कर के आसानी से अपने मोबाइल से operate कर सकते है.

USB TROUBLESHOOT

आपलोग जानते ही होंगे की कोई भी टेक्निकल चीज है तो वो जरुरी नहीं की हमेशा अच्छे काम करे ही. तो ऐसे ही हमारे USB devices के साथ भी हो सकते है. कभी कभी क्या होता है की USB use करते टाइम अचानक से काम नहीं करना, या PC में कनेक्ट करने के बाद डिटेक्ट न करना. तो इस तरह के प्रॉब्लम को हम किस तरह से troubleshoot करते है वो देखते है.

जब इस तरह से प्रॉब्लम आये तो कुछ पॉइंट्स को चेक कर सकते है जो निम्न है :

  1. PC या मोबाइल को रीस्टार्ट कर ले
  2. किसी दूसरी PC में USB लगा कर चेक करे
  3. एक बार जहा भी USB लगा रहे है उस पोर्ट को अच्छे से चेक कर ले कही डैमेज तो नहीं है
  4. USB के ड्राईवर को हो सके तो update कर ले क्योकि इसके वजह से भी कभी कभी काम नहीं करता
  5. इसके केबल को भी अच्छे से चेक कर ले

USAGES OF USB

  1. इसके हेल्प से हम अपने मोबाइल को PC से कनेक्ट कर डाटा ट्रान्सफर कर सकते है
  2. इसकी हेल्प से हम power बैंक से अपनी मोबाइल को charge कर सकते है
  3. इसकी वजह से काफी पोर्टेबिलिटी आ गयी जिस वजह से हम कही भी कुछ भी इसकी हेल्प से connect या disconnect कर सकते है
  4. मोबाइल से PC कनेक्ट कर प्रिंट कर सकते है

CONCLUSION

मुझे पूरा भरोसा है की आपलोग यहाँ What is mini USB and micro USB के बारे में अच्छे से समझा होगा. क्योकि मैंने यहाँ काफी सिंपल लैंग्वेज में आपको समझाने की कोशिस किया हूँ. जिससे आपलोग को USB से रिलेटेड सारे डाउट clear हो जायेंगे.

अगर आपको अच्छा लगा हो तो इसको अपने दोस्तों या करीबी के साथ जरुर शेयर करे. जिससे उनको भी इस तरह की इनफार्मेशन मिल सके और वो भी अपनी स्किल को बढ़ा सके. इसमें मै सिंपल हिंदी में समझाया हूँ अगर किसी को प्रॉब्लम लगे तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के बताये. मै उनका answer जरुर दूंगा आपका डाउट clear करूंगा. आपलोग हमें mail भी कर सकते है. Mail ID – [email protected]

आपलोग हमें इन्स्ताग्राम पर भी follow कर सकते है फॉर instant reply @technogyanin

Thanks

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here