Home COMPUTER WHAT IS UPS AND HOW TO WORK IN HINDI | UPS क्या...

WHAT IS UPS AND HOW TO WORK IN HINDI | UPS क्या है ?

0
962
What is UPS in Hindi

WHAT IS UPS AND HOW TO WORK IN HINDI

what is UPS in hindi. हेल्लो दोस्तों कैसे है आपलोग? आज हमलोग computer के power backup UPS बारे में बात करेंगे. जिसमे हमलोग जानेंगे की एक UPS क्या होता है. कैसे काम करता है. इसका use क्यों किया जाता है इत्यादी. offline और online यूपीएस क्या होता  है. जिससे सभी तक ये information पहुँच सके. और सबलोग aware हो पाए काफी आसानी से. what is UPS in hindi.

UPS क्या है?

यूपीएस का full form होता है Uninterruptible Power Supply. जब हमलोग computer खरीदते तो एक computer लेने के बाद अंत में एक यूपीएस भी लेते है. जिससे हमारे computer को power backup मिल पाए. अब आप सोचते होंगे की बिना UPS आखिर computer ख़राब कैसे हो जाता है. तो आइये इसके बारे समझते है.

हमलोग घर में जितने भी appliances use करते है जो बिजली से चालित है,  उसमे से maximum उपकरण के लिए किसी भी तरह की UPS की जरुरत नहीं होती है. कहा जाये तो light कटने पर उस device पर किसी तरह का कोई effect  नही पड़ता. और वो उपकरण सुरक्षित रहता है. what is UPS in hindi.

What is UPS in Hindi

Image of what is UPS in hindi

लेकिन computer ऐसी device है जिसमे बिजली कटने पर वो ख़राब हो सकता है. इसके ख़राब होने के पीछे कारण ये है की वो proper तरह से shutdown नहीं हो पाता. इसीलिए कभी भी कहा जाता है की computer use करने के बाद उसको proper तरीके से shutdown करे.

proper shutdown न होने से क्या क्या problem आ सकती है. सबसे पहले तो हमारे computer के पूरा डाटा damage हो सकता है, या corrupt हो सकता है. अचानक से light चली गयी तो, हमारी पूरी मेहनत बर्बाद हो सकती है. अगर उस file को save न किया गया हो तो. और तीसरा है उस computer के हार्ड डिस्क के damage होने के chances बढ़ जाते है.

तो basic देखा जाये तो ये सब के लिए UPS काफी important होता है.

MEANING OF UPS

UPS का बेसिक मतलब है, Uninterruptible Power Supply. मतलब बिना किसी बाधा के light का supply continue होना. अगर आपके एरिया में लगातार कुछ समय पर बिजली कटती है. तो वहा के लिए और भी ज्यादा important हो जाता है हमारा UPS. क्योकि बार बार कटने से computer के ख़राब होने के chances बढ़ जाते है. और आपके डाटा lose भी हो सकते है.

जरूर पढ़े: 

UPS काम कैसे करता है

एक UPS के अंदर में बेसिक चार parts लगे होते है. जो निम्नलिखित है :-

  • Battery 
  • Inverter 
  • Battery charger or Rectifier 
  • Static switch or contactor 

BATTERY

UPS के अंदर सबसे important part है battery. जो बिजली कटने पर power backup देती है, जिससे हमारा computer कुछ समय के लिए चल पाता है. और उसको हमलोग proper तरीके से shutdown कर पाते है. इसी बैटरी में charge store होता है तो computer चल पाता है.

INVERTER

inverter का बेसिक काम होता है हमारे बैटरी के DC power को AC में कन्वर्ट करके पहुचाना. inverter rectifier के उल्टा होता है. ये DC के constant frequency और amplitude को AC में बदलने का काम करता है.

RECTIFIER

आप सबलोग बेसिक जानते होंगे की एक rectifier का काम क्या होता है. इसका main काम होता है AC को DC में बदलने का. जिसको को UPS के अंदर battery को charge करने के लिए use किया जाता है.

STATIC SWITCH

यूपीएस के power transfer करने के लिए एक static switch की जरुरत होती है. जिसमे की power का operation बहुत ही fast तरीके से होता है. जो की approx 10 मिलिसेकंड के होता है. यही कारण है की हमारा computer बिजली कटने पर भी UPS से चल जाता है. और अगर computer को inverter से चलाया जाये तो बिजली कटने पर बंद हो जाता है. क्योकि उसमे UPS जितना fast switching नहीं हो पाती है.

UPS और INVERTER में अंतर

यूपीएस का use केवल computer में किया जा सकता है. इसका use हमलोग घर में power supply के लिए कर सकते है, जबकी inverter का use पुरे घर में supply के लिए कर सकते है

  • जब power cut होती है तो UPS का backup काफी तेजी के साथ use किया जाता है. जो मिलिसेकंड में काम करता है, और यही कारण है की इसका use computer में किया जाता है. और इनवर्टर में power cut होने के बाद कुछ माइक्रोसैकेण्ड लग जाता है power on होने में. जिस कारण इसका use computer में नहीं कर सकते है. और हमारा computer बंद हो जाता है बिजली जाने के बाद.
  • बैकअप की बात की जाये तो यूपीएस का बैकअप मात्र 15 से 20 मिनट का होता है. वही inverter का बैकअप 8 से 10 घंटे का हो सकता है.
  • अगर बात किया जाये maintenance की तो यूपीएस का maintenance उतना नहीं होता है. यूपीएस में बैटरी को एक टाइम अन्तराल में बदल देना होता है. वही inverter में उसका बैटरी 3 से 4 साल में बदलना होता है, और साथ ही time to time उसमे पानी बदलना होता है.
  • अब अगर प्राइस की बात की जाये तो, एक यूपीएस का प्राइस 2000 से 3000 तक होता है. वही inverter को लगाने में 10000 से 20000 का खर्च करना पड़ता है. लेकिन अब inverter भी यूपीएस mode वाले आने लगे है, जिसका use computer में कर सकते है.

OFFLINE और ONLINE UPS

हमारे घरो में जो computer use होता है उसमे जो यूपीएस इस्तेमाल किया जाता है. उस यूपीएस को online ups या Line Interactive UPS कहा जाता है. इस तरह के यूपीएस में बैटरी अंदर में लगे होते है.

घर में use होने वाला यूपीएस size में छोटा होता है, लेकिन बहुत सारे ऐसे भी online ups होते है जिनका size काफी बड़ा होता है. जिनके अंदर बहुत सारी बैटरी लगी होती है. इस तरह के यूपीएस का इस्तेमाल बड़े बड़े offices में किया जाता है. जहा एक साथ बहुत सारे computer का इस्तेमाल हो.

और offline ups के बैटरी यूपीएस से बाहर लगी होती है. जैसे हमारे घर में जो inverter use होता है, उसको offline ups कह सकते है. इसका एक ही कमी है जो की बिजली कटने में दिखती है. वो है बैकअप response time जो की online ups के तुलना में कम होता है.

CONCLUSION

तो दोस्तों आज का ये ब्लॉग कैसा लगा मुझे जरुर बताये. जिससे मैं अपने ब्लॉग में और improvement ला सकू और बेहतर बना सकू. जिससे आपलोग और आसानी से समझ सके. मुझे comment कर  के जरुर बताये. या फिर हमें mail भी कर सकते है. और अगर अच्छा लगे तो कृपया अपने दोस्तों के साथ share करना न भूले. जिससे ये useful इनफार्मेशन सभी तक पहुँच सके.

Mail id : technogyanin@gmail.com 

Thanks !!!!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!